0

अनुरोध पत्र

Indian Flag with Press

माननीय राष्ट्रपति महोदय, माननीय प्रधान मंत्री महोदय, माननीय मुख्य न्यायाधीश महोदय, भारत सरकार, नई दिल्ली।

0

क्रोध की राजनीति

Politics of Anger

देश के किसी न किसी हिस्सें में जनता आवेशित या आक्रोशित होकर एकल या समूह में विद्रोह करती है, आगजनी करती है या तमाशा करती है । क्यों समाज के सभी वर्गों द्वारा क्रोध की राजनीति को समाप्त करने का प्रयास नहीं किया जा रहा है ?
Continue Reading

0

असत्य अभिव्यक्त कथन

False statement

हमारे प्रजातंत्र समाज के संवैधानिक नियमों की एक खूबसूरती यह भी है कि “हमें अपने नेता का चयन करने का अवसर मिला हुआ हैं ।” प्रायः प्रत्येक नेता द्वारा चुनावों के दरम्यान क्षेत्रिय रहवासियों को आशापूर्ण कथनों व घोषणाओं से अपनी ओर आकृर्षित भी किया जाता हैं, जिसके लिये कई मर्तबा वे असत्य कथन, आंकड़ें, तथ्य और उदाहरणों का भी सहारा लेते हैं । Continue Reading

0

राष्ट्र के लिए मतदान करें

vote for nation

अगर प्रत्येक देशवासी अपना मतदान राष्ट्र, राज्य व अपने शहर की विकास आवश्यकताओं के अनुसार करें तो हमारे राष्ट्र का विकास और तीव्र गति से हो सकता हैं अर्थात राष्ट्र के लिए मतदान करें न कि जात-धर्म के लिए । Continue Reading

0

धर्म का रूपांतरण

religion change

हमारे देश में किसी भी धर्म का कोई भी वयस्क कानून के अनुसार पंजीकृत विवाह कर सकता है । इन प्रेम-विवाहों के कारण कुछ कड़वे अनुभव भी होते हैं, जिसमें स्त्री का तत्कालीन धार्मिक रूपांतरण एक समस्या बन जाता है।
Continue Reading

0

बहुदलीय राजनीति

Multiparty Politics

आज का प्रश्न वर्तमान प्रजातंत्र समाज की बहुदलीय राजनीतिक परम्परा के एक हिस्से की समाप्ति पर चिंतन के लिए प्रस्तुत है । हमारे संविधान ने हमें बहुदलीय राजनीति प्रणाली का तोहफा दिया हैं, जिसमें प्रत्येक देशवासी अपनी योग्यतानुसार देश की सेवा-सुश्रुषा कर सकता हैं । Continue Reading